कानूनों è - EBC Webstore
+About Us
BOOK
SHELF
SHOP
CART
Home > STUDENTS > Other Books > Hindi Books > 2010 Edition
BEST SELLER
40%
Saving
Great Deals
कानूनों का निर्वचन- Kanoonon ka Nirvachan - (Interpretation of Statutes in Hindi) कानूनों का निर्वचन- Kanoonon ka Nirvachan - (Interpretation of Statutes in Hindi)
× कानूनों का निर्वचन- Kanoonon ka Nirvachan - (Interpretation of Statutes in Hindi)
कानूनों का निर्वचन- Kanoonon ka Nirvachan - (Interpretation of Statutes in Hindi)
by Y.S. Sharma
Edition: 2010 Edition
Was Rs.250.00   Now Rs. 150.00
(Prices are inclusive of all taxes)
40% off
FREE SHIPPING OVER Rs. 395. Want a Shipping Estimate? Add an Indian Pin Code, Click Here
This Product is
IN STOCK

Free Delivery With
Recommend
1
FREE SHIPPING OVER Rs. 395. Want a Shipping Estimate? Add an Indian Pin Code, Click Here
This Product is IN STOCK

Free Delivery With



SHARE THIS PRODUCT

GOOD TOGETHER
कानूनों का निर्वचन- Kanoonon ka Nirvachan - (Interpretation of Statutes in Hindi)
A.S. Misra's Officer's Companion  (in Administration & Law)  Print On Demand
Avtar Singh's Law of Contract & Specific Relief
Together Rs.2571
You save Rs.424
Product Details:
Format: Paperback
Pages: 248 pages
Publisher: Eastern Book Company
Language: Hindi
ISBN: 9788170129806
Dimensions: 24.2 CM X 1.44 CM X 16 CM
Shipping Weight: 0.336(Kg)
Publisher Code: AB/980
Date Added: 2010-06-18
Search Category: Hindibooks
Overview:

The author explains, in a very lucid and simple style, the basic principles of interpretation, the subsidiary rules of interpretation and aids to interpretation, presumptions in statutory interpretation, Statutes affecting the State and the Courts' Jurisdiction, Repeal and expiry of Statutes, Taxing Statutes, Penal and Remedial Statutes, and Interpretation of Delegated Legislation.

कानूनों का निर्वचन की दिन - प्रतिदिन बढ़ती हुई महत्वता एवं आवश्यकता को देखते हुए लेखक ने राजभाषा हिन्दी में कानूनों का निर्वचन नामक अपना यह प्रथम संस्करण प्रस्तुत किया है।

जब भी कोई विवाद न्यायालय के समक्ष आता है तो उसका प्रत्येक निर्णय किसी कानून  (अधिनियम) के निर्वचन से संबंधित ही होता है। लेखक ने निर्वचन के सामान्य नियमों के साथ - साथ तार्किक निर्वचन के नियम तथा कानूनों का वर्गीकरण भी दिया है। विधि के आधुनिक स्वरूप में विधि के निर्वचन हेतु लैटिन सूत्र  (latin maxims) बहुत सहायक सिद्ध होते हैं। अतएव लेखक ने इस विषय पर निर्वचन के कतिपय सूत्र शीर्षक अध्याय दिया है। इसके अतिरिक्त उसने निर्वचन के आंतरिक एवं बाह्य साहाय्य, संविधान का निर्वचन, कानून निर्वचन में "विधि शासन" और "नैसर्गिक न्याय के सिद्धांत" की भूमिका, कानूनों का भूतलक्षी  (Retrospective) प्रवर्तन इत्यादि महत्वपूर्ण विषयों पर प्रकाश डाला है। विषयों से संबद्ध वाद (cases)  और उन पर उच्च न्यायालयों एवं उच्चतम न्यायालय के अधितम निर्णयों को भी पुस्तक में यथास्थान दिया गया है। लेखक ने परिशिष्ट के रूप में साधारण खंड अधिनियम (General Clauses Act), 1897 सम्पूर्ण रूप में दिया है। पुस्तक के अंत में बैंक दिया गया है जिसमें परीक्षा की दृष्टि से संभावित प्रश्नों का संग्रह है।

पुस्तक की भाषा सरल और सुबूध तथा शैली रुचिपूर्ण है। स्थान - स्थान पर प्रयुक्त परिभाषित और क्लिष्ट शब्दों को भी साथ में दिया गया है।

कानूनों का निर्वचन विषय के अब विधि स्नातक (एल.एल.बी)के नवीन पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने के कारण यह पुस्तक विधार्थियों एवं विधि-प्राध्यापकों के लिए नितांत उपयोगी साबित होगी। इसके साथ ही साथ वकीलों एवं प्रादेशिक न्यायिक सेवा की प्रतियोगिता परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के लिए भी उपयोगी सिद्ध होगी।


Table Of Contents:
  1. प्रस्तावना
  2. विधान-मण्डल का आशय तथा विधान का प्रारंभ, विस्तार, निरसन एवं पुनरृजीवन
  3. निर्वचन के सामान्य नियम
  4. तार्किक निर्वचन के नियम एवं कानूनों का वर्गीकरण
  5. निर्वचन के आंतरिक साहाय्य
  6. निर्वचन के बाह्य साहाय्य
  7. निर्वचन के कतिपय सूत्र
  8. दंड कानूनों का कठोर अर्थान्वयन
  9. कर या राजवित्तीय कानूनों का कठोर अर्थान्वयन
  10. संविधान का निर्वचन
  11. प्रत्यायोजित विधान
  12. कानून निर्वचन में "विधि-शासन" और "नैसर्गिक न्याय के सिद्धान्त" की भूमिका
  13. कानूनों का भूतलक्षी प्रवर्तन

Customers
Reviews
AVERAGE RATING
from 1 Reviews
5 Stars
 
1
4 Stars
 
3 Stars
 
2 Stars
 
1 Star
 
 
YOU MIGHT ALSO LIKE:
Vidhishastra Evam Vidhi Ke Siddhant (Jurisprudence & Legal Theory in Hindi)
By G.C. Venkat Subbarao
Rs. 50.00
संसद  एवं  संसदीय  प्रक्रिया - Sansad Evam Sansadiya Prakriya (Parliament and Parliamentary Procedure in Hindi)
By B.L. Babel
Rs. 50.00
वाणिज्यिक  विधि  के  सिद्धांत - Vanijyik Vidhi Ke Sidhant (Principles of Mercantile Law in Hindi )
By Avtar Singh
Rs.250.00Rs.150.00
प्राचीन  भारतीय  विधि  व्यवस्था- Prachin Bhartiya Vidhi Vyavastha (Ancient Indian Legal System in Hindi)(Print On Demand)
By M.D. Chaturvedi
Rs. 600.00
विधिशास्त्र  के  मूल  सिद्धांत - Vidhishastra ke Mool Siddhant -Principles of Jurisprudence (in Hindi)
By Anirudh Prasad
भारत  का  वैधानिक  एवं  संवैधानिक  इतिहास   - Bharat Ka Vaidhanik Evam Samvaidhanik Itihas ( Indian Legal and Constitutional History in Hindi)
By V.D. Kulshreshtha
Rs.195.00Rs.166.00
आपराधिक  विधि  के  सिद्धांत - O.P Srivastava Aapradhik Vidhi Ke Siddhant (Principles of Criminal Law in Hindi)(Print On Demand)
By Ram Naresh Chaudhary
Rs.675.00Rs.574.00
MOST RECOMMENDED
SCC (Weekly), 3 Years Special Combined Subscription On Limited Period Offer - With SCYD 2021
By EBC
Click on TITLE to choose
available options.
Civil Procedure with Limitation Act, 1963 With New Chapter On Commercial Courts
By C.K. Takwani
Click on TITLE to choose
available options.
Indian Penal Code (Hindi) - भारतीय दण्ड संहिता, 1860 - Bhartiya Dand Sanhita, 1860
By Dr. Murlidhar Chatu
Click on TITLE to choose
available options.
Swamy's Handbook for CGS 2018, Central Government Staff, Advances,Central Government Health Scheme ,Children?s Education Allowance ,Compensatory Allowancs ,Concessions when Posted to N-E. Region, etc. ,Conduct Rules ,DA and HRA ,Departmental Promotio
By Muthuswamy, Brinda,
Click on TITLE to choose
available options.
The Practical Lawyer - PLW [Annual Subscription]
By EBC
Click on TITLE to choose
available options.
Avtar Singh's Law of Contract & Specific Relief
By Rajesh Kapoor
Click on TITLE to choose
available options.